Subscribe HinduAbhiyan.com Newsletter

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

Buy Via HinduAbhiyan.com

म्यानमार से जान बचाकर बांग्लादेश पँहुचे हिंदुओं की सहायता करने वाली REO हिन्दू संस्था की आर्थिक सहायता करें

म्यानमार से जान बचाकर बांग्लादेश पँहुचे हिंदुओं की सहायता करने वाली REO (Research and Empowerment Organization, www.reobd.org) हिन्दू संस्था आर्थिक सहायता करें
म्यांमार में रोहिंगया मुस्लिम आतंकवादियों द्वारा पीड़ित 532 हिन्दू बड़ी मुश्किल से जान बचाकर बांग्लादेश के उखिया, कॉक्स बाज़ार के कुटुपालोंग रोहिंगया केंप पँहुचे हैं। वहाँ एक हिन्दू जगदीश साहा ने अपना मुर्गों का फार्म उनके रहने के लिए दिया है। बांग्लादेश सरकार ने रोहिंगया मुस्लिमों के लिए तो 2000 एकड़ जगह दी है किन्तु उसमें हिंदुओं के लिए कोई स्थान नहीं है। अब वहाँ REO नाम की हिन्दू संस्था ने उन 532 लोगों को दो समय का खाना और दवाईयाँ उपलब्ध कराने का उत्तरदायित्व लिया है। संस्था के चेयरमेन प्रोफेसर चन्दन सरकार ने भारत में मुझे सारी जानकारी भेजी है। भारत के तथाकथित हिन्दू संगठन श्रीरामजन्मभूमि के लिए आंदोलन चलाने और सरकार में एक पार्टी की सरकार के अतिरिक्त थोड़े ही कार्य हिन्दू समाज के लिए कर सके हैं और सदा बंगलादेशी हिंदुओं के लिए विफल रहे हैं। बंगलादेशी हिन्दू दशकों से उनको गुहार लगा रहे हैं किन्तु वे उनके लिए कुछ नहीं कर सके हैं। इस काल में लाखों बांग्लादेशी हिन्दू मार दिये गए, धर्मांतरित कर दिये गए, सैकड़ों हिन्दू मंदिर तोड़ दिये गए किन्तु भारत के हिन्दू संगठन कृत्रिम सहानुभूति से अतिरिक्त कुछ नहीं कर सके। म्यांमार से बांग्लादेश में पंहुचने के बाद अनिका धार नाम की हिन्दू महिला ने बताया कि वो म्यांमार के फकीर बाज़ार की एक हिन्दू कॉलोनी चिकरजुरी की रहने वाली है। उसके सामने ही मुंह ढके रोहिंगया मुस्लिम आतंकवादियों ने उसके पति का गला काट दिया और अन्य ससुराल वालों की हत्या कर दी। फिर उन्होने उसे उनमे से किसी से शादी करने और इस्लाम कुबूल करने को कहा जो उसे अपनी जान बचाने के लिए करना पड़ा। उसके बाद उसे दो दिन के लिए जंगल मे ले गए और वही मुस्लिम उसे बांग्लादेश लाये। बाद में फिर वो म्यांमार से आए रोहिंगया हिंदुओं के केंप में लाई गई। अनिका 6 महीने की गर्भवती हैं और दुखी हैं कि वो इतने दिन के बाद भी अपने पति की मृत्यु के अंतिम संस्कार के क्रियाक्रम नहीं कर पाई।
अनुमान ये है कि म्यांमार में सहसत्रों हिन्दू इन रोहिंगया मुसलमान आतंकियों द्वारा मार दिये गए हैं और बाकी कुछ बचे भी संकट में हैं। बांग्लादेश में पंहुचने के बाद भी 2 हिंदुओं की रोहिंगया मुसलमानों ने हत्या कर दी और 9 का अपहरण कर लिया है। बांग्लादेश में ही 9 हिन्दू लड़कियों का रोहिंगया मुस्लिमों ने बलात्कार किया है और बांग्लादेश की सेना भी म्यांमार से आए हिंदुओं के साथ उचित व्यवहार नहीं कर रही है। बांग्लादेश में मुस्लिमों ने म्यांमार से आए हिंदुओं को कुछ खाने की वस्तुएं तो दी हैं किन्तु साथ ही ये भी कहा है कि जल्दी से जल्दी इस्लाम कुबूल कर लो।

बांग्लादेश की एक मात्र हिन्दू संस्था REO (Research and Empowerment Organization, www.reobd.org) ने उनकी सहायता करी है और 532 लोगों के लिए खाने-रहने की व्यवस्था करी है। उन्होने 4 डॉक्टर और 19 स्वयंसेवक कुटुपालोंग के केंप में रह रहे रोहिंगया हिंदुओं की सहायता के लिए वहीं केंप में भी ठहराए हैं।
किन्तु REO (Research and Empowerment Organization, www.reobd.org) संस्था आर्थिक कमी के कारण बहुत अधिक समय तक उनके लिए आवश्यक कार्य नहीं कर सकती। इसलिए उन्होने विश्व के सभी हिंदुओं को निवेदन किया है कि वे म्यांमार से जान बचाकर आए हिंदुओं के जीवन के लिए आर्थिक सहायता करें। करें। इसके लिए उनके चेयरमेप्रोफेसर चन्दन सरकार ने मुझे भी संपर्क किया है और मैं Jitender khurana, संयोजक, हिन्दू जागरण अभियान के माध्यम से उनके लिए आर्थिक सहायता भेजने की व्यवस्था कर रहा हूँ।
REO का इतिहास सदा सताए हुए हिंदुओं की सहायता करने का रहा है और ये संस्था अत्यंत विश्वसनीय हैउनकी वैबसाइट www.reobd.org पर भी उनके विभिन्न कार्यों को देखा जा सकता है जो कोई भी अन्य संस्था नहीं कर रही है। ढाका, बांग्लादेश से संस्था के चेयरमेन प्रोफेसर चन्दन सरकार को फेसबूक पर https://www.facebook.com/CHANDAN.cal.University भी संपर्क कर सकते हैं। ऐसे में इस संस्था का सहयोग करना प्रत्येक हिन्दू का कर्तव्य है।कृपया सभी पीड़ित मानव की सेवा का पुण्य अर्जित करें और सनातन वैदिक धर्म का पालन करें।
इसलिए मैं सभी से आग्रह करता हूँ कि वे REO को इस पुण्य कार्य के लिए आर्थिक सहयोग करें। इसके लिए उनके निम्नलिखित खाते में पैसे सीधे ट्रान्सफर कर सकते हैं। सीधे ट्रान्सफर करने में समस्या है तो दिल्ली में हिन्दू जागरण अभियान के मेरे इस नंबर 8851667863 पर संपर्क कर सकते हैं और मुझे Paytm से ट्रान्सफर कर सकते हैं जो मैं उनके खाते में ट्रांसफर कर दूँगा। ट्रांसफर करने के बाद आपको रसीद के रूप में REO की ओर से धन्यवाद ई मेल भी आयेगा। उनकी ओर से SMS अथवा फोन भी आ सकता है।

Bank Name: PREMIER BANK LTD
Name of the Account: Research and Empowerment Organization
Current A/C No: 148-11100000449
Bank Swift Code: PRMRBDDT
Branch Name: Ashkona Branch, Hazi Kamor Uddin Tower (1st floor)
27, Ashkona, Dakkhin Khan, Uttara, Dhaka-1230

इस विषय पर और अधिक जानने के लिए ये भी पड़ें।



Follow me Twitter - @iJKhurana

Latest from HinduAbhiyan.Com